कोविड नियमों के तहत गुजरात में आम लोगों से 90 करोड़ जुर्माना वसूलने वाली भाजपा ने बंगाल में नियमों की धज्जियां उड़ा दी

नई दिल्ली. गृहमंत्री अमित शाह दो दिन बंगाल में रहे। पहले दिन मंदिर में पूजा की तो दूसरे दिन रोड शो किया। रोड शो और सभा में हजारों लोग जुटे। कोरोना के कारण जहां संसद के शीतकालीन सत्र को रद्द कर दिया गया है वहीं बंगाल में भाजपा के हर दूसरे सप्ताह बड़े चुनावी आयोजन हैरान कर देने वाले हैं। ऐसे समय पर जब देश में कोरोना के केस 1 करोड़ पार हो चुके हैं, डेढ़ लाख के करीब लोग इससे जान गंवा चुके, रोज 25 हजार संक्रमित मिल रहे हैं तब इतना बड़ा रोड शो करना खतरनाक साबित हो सकता है। बंगाल की बात करें तो यहां 5.32 लाख कोरोना पॉजिटिव केस सामने आ चुके हैं। इनमें 9 हजार मरीजों की मौत हो चुकी है।

मास्क नहीं पहनने पर गुजरात सरकार ने आम लोगों से वसूल लिए 90 करोड़

गुजरात में भाजपा सरकार ने मास्क नहीं पहनने वालों से 90 करोड़ रुपए वसूल लिए। इस पर सुप्रीम कोर्ट तक ने हैरानी जताई है। कोर्ट ने कहा कि सरकार जुर्माने के तौर पर इतनी मोटी रकम वसूल ली लेकिन अब भी कोविड-19 के दिशा निर्देशों का पालन नहीं करवा पा रही है। सुप्रीम कोर्ट ने सोशल डिस्टेंसिंग और कोरोना पीड़ितों के इलाज में अभाव को लेकर स्वतः संज्ञान लिया था। बंगाल रोड शो में बगैर मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उड़ाते लोगों की भीड़ दिखी।

दिल्ली में महामारी एक्ट में किसानों पर मुकदमा तो बंगाल में नेताओं पर क्यों नहीं

हाल ही में किसान आंदोलन को लेकर जब हरियाणा और पंजाब के किसान दिल्ली की सीमा पर आ पहुंचे तो दिल्ली पुलिस ने वाटर कैनन से पानी की बौछारें की। किसानों को घुसने से रोका गया। दिल्ली पुलिस ने तर्क दिया कि कोरोना काल के दौरान इतनी भीड़ इकट्ठा करना अपराध है। इस दौरान कई किसानों के खिलाफ महामारी एक्ट में मामला भी दर्ज किया गया। ऐसे में बंगाल में रोड शो पर सवाल खड़े हो रहे हैं।

शादी समारोहों में 100 से ज्यादा लोगों के आने पर अब भी है पाबंदी

कोविड-19 की गाइडलाइंस के अनुसार शादी समारोहों में अब भी खुल कर कार्यक्रम कर पाने की छूट नहीं है। समारोहों में सौ से ज्यादा लोगों के आने की पाबंदी है। कई राज्यों की सरकारें तय कर चुकी हैं कि मैरिज गार्डन में सौ से ज्यादा लोगों के आने पर उनकी लाइसेंस रद्द हो सकता है। ऐसे में इन सबके बीच बगैर चुनावी घोषणा के इतना बड़ा राजनीतिक कार्यक्रम करना कितना उचित है।

प्रशांत भूषण बोले- कहां हैं नियम, यह लोकतंत्र का मजाक नहीं तो क्या है

सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठ वकील प्रशांत भूषण ने ट्वीट किया- भाजपा दूसरे दलों से आए लोगों को बंगाल में इकट्ठा कर रही है। कोविड-19 गाइडलाइन को दरकिनार कर बिना मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग के ही अमित शाह औऱ प्रधानमंत्री मोदी सभाएं, रोड शो कर रहे हैं। यह लोकतंत्र का मजाक नहीं तो क्या है। वरिष्ठ पत्रकार सुशांत सिंह ने ट्वीट किया- बंगाल में भीड़ से खचाखच भरी रैलियां हो सकती हैं तो संसद का सत्र बुलाने में कोरोना का खतरा कैसे है।

ममता बनर्जी पर जमकर बरसे अमित शाह

दो दिवसीय बंगाल दौरे पर अमित शाह ने ममता बनर्जी पर जमकर हमला बोला। उन्होंने बंगाल सरकार को सबसे भ्रष्ट तक कह डाला। शाह ने कहा कि जिस प्रकार भाजपा अध्यक्ष पर टीएमसी कार्यकर्ताओं ने हमला किया, इसका जवाब यहां की जनता आने वाले चुनाव में देगी। शाह ने दावा किया कि अगले साल चुनाव में भाजपा 200 से ज्यादा सीटें जीतकर सरकार बनाएगी।