श्वेता शर्मा


एक ओर जहाँ भारत देश में कोरोना फिर से पैर पसारने लगा है , जहाँ कोरोना के मामले पिछले साल के पीक सीजन से भी ज्यादा सामने आ रहे है ऐसे में असम के स्वास्थ्य मंत्री और बीजेपी नेता हेमंत बिस्वा शर्मा का कहना है की मास्क लगाने की ज़रुरत नहीं है | जी हाँ एक पत्रकार द्वारा जब उनसे मास्क ना पहनने पर सवाल किया गया गया तो मंत्री शर्मा  ने जवाब दिया की असम से कोरोना जा चुका है इसलिए उन्होंने मास्क नहीं लगा रखा है | हेमंत बिस्वा कोरोना पर इतने विश्वास से बयान देते नज़र आये और इतनी सटीक भविष्यवाणी करते नज़र आये कि उन्होंने एक्सपर्ट की सलाह को भी जरूरी नहीं माना। इसके अलावा भी कई ऐसे बेतुके जवाब स्वास्थ्य मंत्री ने दिए,जानिए वह सब कुछ जो असम के स्वास्थ्य मंत्री ने कोरोना को लेकर कहा


देश में रविवार को 93,249 कोरोना के मामले सामने आये जो की इस साल में कोरोना का सर्वाधिक आंकड़ा है यह ही नहीं संक्रमण के मामलो की संख्या दिन ब दिन बढ़ती जा रही है , यही मामले जो कुछ दिनों पहले दस हज़ार प्रतिदिन से बढ़ने शुरू हुए और कुछ ही दिनों में एक लाख के करीब पहुंचते हुए नज़र आ रहे है ऐसे में सभी राज्य सरकारें और केंद्र सरकार मास्क लगाने और सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखने के निर्देश दे रही है इसके बिलकुल विपरीत असम के स्वास्थ्य मंत्री कह रही है कि मस्त लगाने की जरूरत नहीं है। दरअसल एक पत्रकार के द्वारा मास्क न पहले जाने पर किए गए सवाल पर हेमंत बिस्वा शर्मा का यह जवाब था साथ ही उन्होंने कहा कि “मास्क की जरूरत नहीं है तो नहीं है इसमें मैं क्या करू “। लेकिन आंकड़ों पर गौर किया जाए तो हम पाते हैं कि असम में अब भी 1964 कोरोना केस एक्टिव हैं ऐसी स्थिति में भी राज्य स्वास्थ्य मंत्री जिन पर राज्य के अच्छे  स्वास्थ्य की ज़िम्मेदारी है वो ऐसे बयान देते नज़र आ रहे है |


मंत्री के अनुसार असम में नहीं है कोरोना कोई जरूरत नहीं केंद्र सरकार के निर्देशों के पालन की

बिस्वा से जब पूछा गया की केंद्र सरकार मास्क लगाने का निर्देश दे रही है तब इस पर उन्होंने जवाब दिया की केंद्र सरकार अपना निर्देश दे लेकिन असम के सन्दर्भ में आज की डेट में कोरोना नहीं है | उन्होंने ये भी कहा की ” क्यों बेकार में पैनिक क्रिएट करें , जब कोरोना होगा में बता दूंगा लोगो को की मास्क पहने |”


कहा मास्क पहनेंगे तो ब्यूटी पार्लर कैसे चलेंगे, कैसे होगी इकोनामिक रिकवरी

कोरोना को लेकर की गई बातचीत में मंत्री जी ने बात नहीं पहने जाने को इकोनॉमी के नजरिए से सही ठहराया। उन्होंने कहा की हमे तो अब इकॉनमी को रिवाइव करना है अगर मास्क पहनेंगे तो ब्यूटी पार्लर कैसे चलेगा ??  साथ ही उन्होंने ये भी कहा की अभी हमने लोगों को बोल रखा है की जब कोरोना बढ़ेगा सबको मास्क पहनना पड़ेगा नहीं तो पांच सौ रुपये जुर्माना देना होगा |


चुनावी सभा में इकट्ठे होने वाली भीड़ पर दिया बेतुका बयान साथ ही कहा हम तो बिहू का त्योहार भी धूमधाम से मनाएंगे
 
चुनावी सभा के मैदान में कोरोना गाइडलाइन्स की जिस तरह से धज्जियां उड़ाई जा रही है उस पर पत्रकार द्वारा जब हेमंत बिस्वा से पूछा गया की सोशल मीडिया पर लोग बोल रहे हैं की चुनाव आता जाएगा कोरोना जाता जाएगा तब मंत्री जी ने जवाब दिया की ये – ये लोग बी टी सी के चुनाव में भी ऐसे ही बोले थे , बोले थे असम चुनाव के बाद कोविड आएगा , नहीं आया अब तो सेकंड फ़ैज़ भी चला गया | उन्होंने कहा अब तो हम लोग बीहू  (असम का पारम्परिक त्यौहार ) का भी आयोजन करने जा रहे हैं बड़ी धूम धाम से और मेरा विश्वास है की बीहू  में भी नहीं होगा कोरोना |


असम के जीएसटी का पूरे देश के जीएसटी से ज्यादा होने का दिया हवाला

मंत्री जी ने ये भी कहा की उनके असम की इकॉनमी ग्रो कर रही रही है |  असम का जीएसटी 18 से 19 प्रतिशत तक उठ गया है जो देश के जीएसटी से  भी ज्यादा है , एक साल तक लोग परेशान रहे अब लोगों को राहत चाहिए वरना ऐसे तो देश ख़त्म हो जायेगा और साथ ही उन्होंने ये भी कहा की भारत सरकार ने जिन राज्यों में कोविड है उनको जो निर्देश दिए हैं उनका पालन उन्हें करना चाहिए |


सोशल मीडिया पर जब बना मजाक तो मंत्री ने कहा कि असम आए और देखें क्या है हालात 

हेमंत बिस्वा शर्मा के इस बयान के बाद जब सोशल मीडिया और ट्विटर पर उनका मजाक बनने लगा तब उन्होंने ट्वीट करके इसका जवाब ये दिया  – “मास्क को लेकर जो लोग मेरा मज़ाक बना रहे हैं उन्हें असम आकर जरूर देखना चाहिए और देखना चाहिए की दिल्ली , केरल और महाराष्ट्र की तुलना में हमने कोविड को कितना सीमित कर दिया है और साथ ही हमारी इकॉनमी में प्रभावशाली सुधार आया है | हम इस साल बीहू भी समान उत्साह के साथ मनाएंगे |”