सुरभि जैन

जन, जन आंदोलन और विपक्ष की आवाज
बुलंद करने का सबसे बड़ा अड्डा बना ट्विटर

सोशल मीडिया का वो प्लेटफॉर्म जो आज खबर से लेकर अभियान और आंदोलन छेड़ने का सबसे सटीक अड्डा बन चुका है। जहां जन से लेकर जन आंदोलन तक की आवाज़ बुलंद होने लगी है। जहां सरकार के बयान दर्ज होने लगे हैं तो विपक्ष के सवाल प्रखर हो रहे हैं। और जहां हस्तियां भी रह-रह कर अपने विचार और प्रतिक्रियाएं दर्ज कराने लगी हैं। हम बात कर रहे हैं ट्विटर की। ये वो शब्द है जिसका वास्ता भले ही ग्रामीण इलाकों में अभी नहीं है लेकिन ऐसा कोई दिन नहीं जब सुर्खियों में इसका जिक्र न हो। यहां वाद विवाद बढ़ रहे हैं तो समस्याओं का तुरंत समाधान भी हो रहा है। आज हम आपको मिलवाते हैं उसी ट्विटर से जहां से आए दिन कंगना रनौत खबरों में आ जाती हैं तो एक ट्वीट पर रेलवे के एक्शन में आने की खबरें भी सुनाई देती हैं।

चार दोस्तों ने शुरू किया था ट्वीच, जो आगे चलकर बन गया ट्विटर

इसकी स्थापना 21 मार्च 2006 को अमेरिका से हुई। फिलहाल ट्विटर का हेड क्वार्टर सैन फ्रांसिस्को केलिफोर्निया (यूएसए) में है। फाउंडर की बात करें तो जैक डोरेसी हैं जिन्होंने तीन दोस्तों इवान विलियम्स, बिज़ स्टोन और डी ओडेओ के साथ मिलकर एक कॉर्पोरेशन का गठन किया जो आगे जाकर ट्विटर बना। फिर दो सप्ताह के बाद डोरसी ने इसकी वेबसाइट बनाई। ट्विटर को पहले twitch नाम से जाना जाता था, पर यह नाम ठीक नहीं लगा फिर इसी वर्ड से मैचिंग शब्द खोजने पर ट्विटर टीम को इंग्लिश डिक्शनरी में ट्विटर शब्द मिला। तब से इसे ट्विटर नाम से जाना जाता है। पहले ट्वीट्स मूल रूप से 140 शब्दों तक ही सीमित थे लेकिन नवंबर 2017 में इसे दोगुना कर 280 कर दिया गया। ऑडियो और वीडियो ट्वीट भी 140 सेकंड तक सीमित रहते हैं।

भारत से चार गुना ज्यादा 69.3 मिलियन टि्वटर यूजर्स अमेरिका में

टि्वटर यूजर्स की बात करें तो दुनिया में सबसे अधिक अमेरिका में जनवरी 2021 तक माइक्रोब्लॉगिंग सर्विस के यूजर्स की संख्या 69.3 मिलियन थी। दूसरे नंबर पर 50.9 मिलियन के साथ जापान और तीसरे नंबर पर 17.5 मिलियन यूजर्स के साथ भारत है। यूके में 16.45 और ब्राजील में 16.2 मिलियन ट्विटर यूजर्स हैं।

डाटा लीक न हो, इसलिए चीन में आज भी है ट्विटर पर बैन

भारत, अमेरिका सहित दुनिया के तमाम देशों में भले ही ट्विटर एक क्रांति का नाम है लेकिन यह आज भी चीन में बैन है। चीन का मानना है कि इस तरह की अमेरिकन सोशल नेटवर्किंग वेबसाइट दूसरे देशों का डाटा जानने के लिए करती है। हालांकि ट्विटर ने इन आरोपों को निराधार बताया है। हालांकि कई बार भारत में भी डाटा चोरी का मुद्दा उठा और कई ऐप को बैन किया जा चुका है।

पहले तीन साल तक कोई कमाई नहीं, अब 3.46 बिलियन डॉलर है

ट्विटर की रेवेन्यू की बात करें तो 2019 के आंकड़ों के अनुसार ट्विटर का वर्ल्डवाइड रेवेन्यू 3.46 बिलियन अमेरिकी डॉलर है। वहीं इसकी ऑपरेटिंग इनकम 366.37 मिलियन अमेरिकी डॉलर और नेट इनकम 1.46 बिलियन अमेरिकी डॉलर है। ट्विटर कंपनी में काम करने वाले कुल एंप्लॉय की संख्या 4900 है। यह जानकर हैरानी होगी कि ट्विटर ने अपने पहले 3 साल में  कोई कमाई  नहीं की थी।

दुनिया के 10 सबसे ज्यादा फॉलोवर्स वाले टि्वटर अकाउंट

  • 1. बराक ओबामा 128 मिलियन फोलोवर्स
  • 2. जस्टिन बीबर 114 मिलियन फोलोवर्स
  • 3. कैटी पेरी 109 मिलियन
  • 4. रिहाना 100 मिलियन
  • 5. क्रिस्टीयानो रोनाल्डो 90 मिलियन
  • 6. टेलर स्विफ्ट 88 मिलियन
  • 7. लेडी गागा 83 मिलियन
  • 8. अरिएना ग्रैंडी 80 मिलियन
  • 9. ऐलन डिजेनरेस 79 मिलियन
  • 10. यूट्यूब 72 मिलियन

कुछ रोचकः सिर्फ 4 घंटे में हो गए 1 मिलियन फॉलोवर्स

  • अभिनेता रॉबर्ट डाउनी जूनियर के अप्रैल 2014 में 23 घंटे 22 मिनट में ही एक मिलियन फॉलोअर्स हो गए।
  • यह रिकॉर्ड कैटिलिन जेनर ने तोड़ दिया जो 1 जून 2015 को ट्विटर पर आए और केवल 4 घंटे और 3 मिनट में ही एक मिलियन फॉलोअर्स हो गए।
  • 2016 के अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव के दिन ट्विटर ब्रेकिंग न्यूज़ का सबसे बड़ा स्रोत साबित हुआ। इस दिन 40 मिलियन से अधिक ट्वीट भेजे गए।
  • ट्विटर को हम 35 भाषाओं में इस्तेमाल कर सकते हैं।
  • ट्विटर पर सबसे ज्यादा 2012 में प्रतिदिन 10 लाख अकाउंट बनाए गए।
  • ट्विटर पर हर दिन 350 मिलियन tweets भेजी जाती है।
  • McDonald ने अपने ट्विटर account को manage करने के लिए 10 लोगों को रखा है।
  • Twitter के पक्षी का नाम लैरी है।
  • आप अपने पहले ट्वीट को first-tweets.com पर देख सकते हैं।
  • Twitter कम्पनी का एक रूल है कि किसी भी अपने कर्मचारी को वेरीफाइड नहीं किया जा सकता।
  • ट्विटर पर 1 बिलियन टवीट्स होने में 3 साल 2 महीने और 1 दिन लगा था जो बहुत ज्यादा है।