• बैंक का काम हो या लैंडलाइन से मोबाइल पर फोन लगाना, बहुत कुछ बदल गया है
  • फास्टैग अनिवार्य करने की आखिरी तारीख एक जनवरी से बढ़ाकर अब 15 फरवरी

साल 2020 पूरी दुनिया के लिए मुश्किलों भरा रहा। हम नए साल 2021 में प्रवेश कर चुके हैं। उम्मीद की जा रही है कि नया साल पिछले साल से बेहतर हो। वैसे, नए साल में कुछ नियम भी बदल गए हैं, जिनका सीधा असर हमारी रोजमर्रा की जिंदगी पर पड़ता है। इनमें सड़क, बैंकिंग से लेकर मोबाइल आदि शामिल है।

अब 5000 रुपये तक कॉन्टैक्टलेस पेमेंट
रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) ने कॉन्टैक्टलेस कार्ड से ट्रांजैक्शन की सीमा को बढ़ा दिया है। पहले इसकी अधिकतम सीमा 2000 रुपये थी, जिसे अब बढ़ाकर 5000 रुपये कर दिया गया है। नया नियम एक जनवरी से लागू हुआ है।

अब चेक पेमेंट का नया सिस्टम
RBI ने चेक से पेमेंट करने के लिए एक नया सिस्टम लॉन्च किया है। नए नियम के तहत 50 हजार रुपये से अधिक के पेमेंट पर जरूरी डिटेल को एक बार फिर से कन्फर्म करना होगा। यह नियम एक जनवरी से लागू हो गया है। हालांकि, यह खाताधारक पर निर्भर करेगा कि वह इस सुविधा का लाभ उठाना चाहता है या नहीं। इसमें चेक जारी करने वाले को SMS, इंटरनेट बैंकिंग, मोबाइल बैंकिंग या फिर एटीएम के माध्यम से चेक से जुड़ी सारी जरूरी जानकारियां बैंक को फिर से साझा करनी होंगी।

लैंडलाइन से मोबाइल पर कॉल से पहले ‘0’ लगाइए
15 जनवरी से अब लैंडलाइन फोन से मोबाइल पर कॉल करने का तरीका भी बदल जाएगा। अब किसी भी मोबाइल पर नंबर डायल करने से पहले शून्य लगाना होगा। पहले सिर्फ STD कॉल के लिए शून्य लगाना पड़ता था, लोकल कॉल के लिए नहीं। लेकिन, अब सभी मोबाइल नंबर डायल करने के लिए शून्य लगाना अनिवार्य होगा।

घरेलू चीजें होंगी महंगी
नए साल में टीवी, फ्रिज, वॉशिंग मशीन और दूसरे होम अप्लायंस की कीमतें भी बढ़ सकती हैं। इसकी मुख्य वजह कॉपर, एल्यूमिनियम और स्टील की कीमतों में बढ़ोतरी है। इसके अलावा समुद्री और हवाई माल भाड़े में भी बढ़ोतरी हुई है। वहीं, देश में एक जनवरी से सभी वाहनों के लिए फास्टैग लगाना अनिवार्य किया जाना था। लेकिन, अब इसे बढ़ाकर 15 फरवरी 2021 कर दिया गया है। नए नियम के मुताबिक किसी भी ट्रांसपोर्ट वाहन के फिटनेस सर्टिफिकेट का रिन्युअल भी अब फास्टैग होने के बाद ही किया जाएगा। वहीं, नया थर्ड पार्टी इंश्योरेंस करवाने के लिए भी फास्टैग को अनिवार्य किया गया है।