सुरभि जैन

  • व्हाटसएप से सिग्नल या टेलीग्राम पर शिफ्ट होने लगे यूजर्स, दोनों के डाउनलोड्स तेजी से बढ़े
  • व्हाटसएप के ऐसे कई अनोखे फीचर्स जो सिग्नल-टेलीग्राम नहीं मिलेंगे

Whatapp इन दिनों अपनी नई प्राइवेसी पॉलिसी के चलते आलोचनाओं से घिरा हुआ है, जिसकी वजह से बड़ी संख्या में लोग whatsapp को छोड़ signal व telegram को डाउनलोड कर रहे हैं। व्हाटसएप ने अपनी पॉलिसी में फेरबदल किया जो यूजर के निजी डेटा के लिए सुरक्षित नहीं है। पॉलिसी के अनुसार अब फेसबुक के साथ डेटा साझा करना अनिवार्य हो जाएगा। हालांकि व्हाट्सएप ने स्पष्ट किया है कि यूजर्स के लिए प्राइवेसी पॉलिसी वही रहेंगी, बदलाव केवल बिजनेस अकाउंट के लिए हैं।


भले ही व्हाट्सएप की नई प्राइवेसी पॉलिसी के कारण यूजर्स व्हाट्सएप का साथ छोड़ सिग्नल का हाथ थाम रहे हैं। मगर व्हाट्सएप के कई ऐसे एडवांस फीचर्स हैं जिन्हें यूजर सिग्नल या टेलीग्राम पर मिस करने वाले हैं। व्हाट्सएप के ये फीचर ना सिर्फ खास ब्लकि अपने आप में यूनिक भी हैं।

Whatsapp फीचर्स जो आपको signal या telegram पर नहीं मिलेंगे

स्टेटस अपडेट

यदि आप whatsapp को छोड़ signal का इस्तेमाल करने जा रहे हैं, तो आपको यह जान लेना बहुत जरूरी है कि signal पर आपको status update फीचर नहीं मिलने वाला है। Facebook के स्वामित्व वाली कंपनी whatsapp आपको 24 घंटे के लिए फोटो व वीडियो को अपना व्हाटसएप स्टेटस बनाने की इजाजत देती है, जिसे आप और आपके कॉन्टेक्ट्स ही देख सकते हैं। हालांकि, सिंग्नल पर फिलहाल यह फीचर मौजूद नहीं है।

ग्रुप कॉलिंग

व्हाट्सऐप ग्रुप कॉलिंग फीचर का इस्तेमाल करते हुए आप अपने दोस्तों व परिवार के लोगों से डिजिटली कनेक्ट हो सकते हैं, एक साथ वीडियो कॉलिंग आमने सामने बैठ कर की जा सकती है। हालांकि, signal पर यह फीचर फिलहाल बीटा वर्जन पर है, जिसे रोलआउट होने में थोड़ा समय लग सकता है। लेकिन व्हाट्सएप यूज करने वाले इस फीचर का इस्तेमाल लम्बे समय से करते आ रहे हैं।

नहीं होगा पेमेंट का कोई ऑप्शन

व्हाट्सएप के इस फीचर को पिछले साल ही नवंबर में लाया गया था, जो लोगों तक अब पहुंचने लगा था। मगर अब जो यूजर्स व्हाट्सएप छोड़ सिग्नल को अपना रहे हैं, उन्हें इस फीचर जैसा कोई ऑप्शन सिग्नल में नहीं मिलने वाला। व्हाट्सएप पेमेंट फीचर के जरिए आप अपने कॉन्टेक्ट्स से लेकर किसी भी UPI तक को पेमेंट कर सकते थे। हालांकि, व्हाट्सऐप यूजर को पेमेंट करने और पाने के लिए अपने बैंक अकाउंट की डिटेल्स व्हाट्सएप से जोड़नी पड़ती है।

नहीं आएगा अब कोई ऑनलाइन नजर

यूजर जब भी व्हाट्सएप पर आता है, तो उसके दूसरे कॉन्टेक्ट्स को वह ऑनलाइन नजर आता है, लेकिन व्हाट्सएप के बाकि फीचर्स की तरह ये फीचर भी सिग्नल या टेलीग्राम पर मौजूद नहीं है। हालांकि टेलीग्राम में यूजर के ऑनलाइन होने पर ग्रीन सिग्नल दिखता है।

कस्टमाइज्ड वॉलपेपर

व्हाट्सएप ने हाल ही में अपने यूजर्स के लिए कस्टम वॉलपेपर फीचर जारी किया था। इस फीचर के जरिए यूजर्स अलग-अलग चैट्स में अलग-अलग वॉलपेपर लगा सकते हैं। व्हाट्सएप का यह एडवांस फीचर सिग्नल या टेलीग्राम पर नहीं मिलेगा।

ब्राॅडकास्ट लिस्ट

व्हाटस्एप पर यूजर्स को ब्राॅडकास्ट लिस्ट का ऑप्शन भी मिलता है। ब्राॅडकास्ट लिस्ट के माध्यम से यूजर 256 सम्बंधित लोगों को एक ही लिस्ट में जोड़कर उन्हें एक साथ मैसेज भेज सकता है। इसके लिए उसे अलग-अलग मैसेज करने की आवश्यक्ता नहीं पड़ती। एक तरह के मैसेज को एक बार में ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुंचाने में यह ऑप्शन काफी मददगार साबित होता है। मगर व्हाटसएप के विकल्प के रूप में उभर रहे एप्स में ये फीचर नहीं हैं।

1 दिन में सिग्नल के 1 मिलियन, टेलीग्राम के तीन दिन में 25 मिलियन डाउनलोड

व्हाटसएप की नई प्राइवेसी पाॅलिसी आने के बाद बड़ी मात्रा में यूजर्स ने वैकल्पिक एप सिग्नल या टेलीग्राम या दोनों डाउनलोड किए हैं। वहीं कुछ लोग पूरी तरह सिग्नल या टेलीग्राम पर शिफ्ट कर गए हैं। दोनों ही एप को पिछले दिनों भारी-भरकम संख्या में डाउनलोड किया गया है। 11 जनवरी को एक ही दिन में सिग्नल को 1 मिलियन डाउनलोड मिले हैं। वहीं टेलीग्राम को भी पिछले 72 घंटे में 25 मिलियन डाउनलोड मिले हैं। टेलीग्राम अपने 500 मिलियन एक्टिव यूजर्स भी पार कर चुका है।

इसके साथ ही प्राइवेसी को लेकर उठे विवाद के बीच व्हाट्सएप ने एक बार फिर सफाई दी है। फेसबुक के स्वामित्व वाली व्हाट्सएप ने कहा कि पॉलिसी में जो बदलाव किए गए हैं दोस्तों या परिवार के साथ किए गए मैसेज की प्राइवेसी पर कोई असर नहीं पड़ेगा। whatsapp ने ट्वीट में कहा, ”कुछ अफवाहों को दूर करना चाहते हैं और शत प्रतिशत साफ करना चाहते हैं कि हम आपके निजी संदेशों को एंड-टू-एंड एन्क्रिप्शन के साथ सुरक्षित रखना जारी रखेंगे। प्राइवेसी पॉलिसी में अपडेट से आपके दोस्तों या परिवार के साथ किए गए कम्युनिकेशन पर असर नहीं पड़ेगा.”

दूसरी ओर एप स्टोर पर उपलब्ध जानकारी बताती है कि जब यूजर्स डेटा इकट्ठा करने की बात आती है, तो व्हाट्सएप के बाद फेसबुक मैसेंजर सबसे अधिक डेटा एकत्रित करता है। दोनों एप्स द्वारा इकट्ठा किए जाने वाले यूजर डेटा में यूजर्स की परचेसिंग हिस्ट्री, फाइनेंशियल इनफॉरमेशन , लोकेशन की जानकारी, कॉन्टेक्ट, फोन नंबर, ईमेल आईडी और यूसेज डेटा आदि शामिल हैं। फिलहाल व्हाट्सएप को भारत में 40 करोड़ से अधिक लोग इस्तेमाल कर रहे हैं।